Return to Video

Abigail DeVille: "Light of Freedom" | Art21 "Extended Play"

  • 0:07 - 0:10
    संघर्ष क बिना कोई प्रगति नहीं होती है|
  • 0:14 - 0:16
    वह लोग जिनमे कोई व्याकुलता नहीं वह सिर्फ
  • 0:16 - 0:18
    आजादी के समर्थन का ढोंग करते है|
  • 0:19 - 0:22
    उनको बिना कर्म के सफलता चाहिए|
  • 0:24 - 0:29
    उनको बिना गर्जन और बिजली के बारिश चाहिए|
  • 0:31 - 0:35
    उनको बिना ज्वार-भाता के महासमुन्द्र चाहिए|
  • 0:38 - 0:42
    फ़्रेडरिक डगलस, अगस्त ४, १८५७|
  • 0:42 - 0:45
    [अबिगाइल डेविले: "लाइट ऑफ फ्रीडम "]
  • 0:55 - 1:00
    [मैडीेसन चौकोर उद्यान]
  • 1:01 - 1:05
    जब मैंने फ़्रेडरिक डगलस का उद्धरण पढ़ा तब
  • 1:05 - 1:12
    मैंने इस गर्मी जो भी हुआ उसका संदर्भ खोजा
  • 1:14 - 1:17
    मुझे लगता है की उन्होने कुछ चित्र को रंग
  • 1:17 - 1:20
    दिया| मै बस आते हुए तूफान के बारे
  • 1:20 - 1:23
    मे सोच रही थी, और उन लोगों की भीड़ जो
  • 1:23 - 1:26
    हाथों मे हाथ लिए, अपना विरोध किए, इस
  • 1:26 - 1:32
    महामारी के दौर मे| इस राष्ट्र के नीव
  • 1:32 - 1:37
    को बताने के लिए, की यह किसपर निमृत है,
  • 1:59 - 2:03
    और यह स्मरणोत्सव है "ब्लैक लाइव मैटर" के
  • 2:03 - 2:07
    विरोध और आंदोलन का, और इस महाद्वीप पर ४००
  • 2:07 - 2:10
    साल से भी ज्यादा रहने वाले ब्लैक लोगों का|
  • 2:13 - 2:15
    जैसे मै उन हाथ को रख रही थी, उन सभी
  • 2:15 - 2:19
    तरीकों के बारे मे सोच रही थी, जिनसे सब चीज
  • 2:19 - 2:22
    नए रूप मे होती, कि इतने मौके और क्षण जो
  • 2:22 - 2:28
    छूट गए, न्यू यॉर्क या इस देश के इतिहास मे,
  • 2:29 - 2:30
    जब प्रगति के मौके या ऐसे मौके
  • 2:30 - 2:36
    जब सब चीज सबके लिए बराबर हो जाती|
  • 2:41 - 2:44
    मेरी एक बहुत बढ़िया चौथी कक्षा की अध्यापक,
  • 2:44 - 2:46
    उनका नाम मिस्सस हैम्मन्द था| वह
  • 2:46 - 2:48
    बहुत शानदार थी| उन्होने सच मे इतिहास
  • 2:48 - 2:50
    हमारे लिए जिंदा कर दिया था| उन्होने हमारे
  • 2:50 - 2:52
    लिए वाइनिल पर मार्टिन लूथर किंग का
  • 2:52 - 2:54
    "मेरा एक सपना है", नाटक किया,
  • 2:54 - 2:57
    और उस कक्षा मे शांति हो गई थी,
  • 2:57 - 3:01
    मुझे याद है कि उस पूरे समय मै मेज के नीचे
  • 3:01 - 3:03
    अपने सहेली का हाथ पकड़ी थी, और उनके
  • 3:03 - 3:09
    शब्द प्रेरणा स्रोत थे| उन्होने हमारे अंदर
  • 3:09 - 3:13
    एक बीज बो दिया था, इस सोच का की कैसे हम
  • 3:13 - 3:18
    इस इतिहास के भागीदार है|
  • 3:18 - 3:20
    उद्यान मे स्टैचू ऑफ लिबर्टी के हाथ की
  • 3:20 - 3:22
    मशाल देख कर मुझे ऐसा लगा कि
  • 3:22 - 3:25
    "ठीक है अब मै देखना बंद कर सकती हूँ, बस
  • 3:25 - 3:27
    अब यही है"| "यही है जिसके बारे मे मै सोच
  • 3:27 - 3:27
    रही थी",
  • 3:27 - 3:30
    "वह सब जिसके बारे मे मुझे बात करना है"
  • 3:30 - 3:35
    आजादी की मूर्ति और वह मशाल, उस पार्क मे ६
  • 3:35 - 3:40
    साल तक थे (१८७६-१८८२), जब वह
  • 3:40 - 3:43
    स्टैचू ऑफ लिबर्टी के मूर्तितल के लिए धन
  • 3:43 - 3:45
    एकत्र कर रहे थे|
  • 3:50 - 3:53
    मुझे मचान बाँधना बहुत पसंद है|
  • 3:53 - 3:56
    न्यू यॉर्क सिटी मे यह हर जगह है|
  • 3:56 - 3:59
    चीज़े हमेशा बनती बिगड़ती रहती है|
  • 3:59 - 4:02
    और यह आजादी की सोच पीढ़ी दर पीढ़ी
  • 4:02 - 4:09
    लगातार निर्माण और पुनर्निर्माण मे है,
  • 4:13 - 4:16
    घंटियों को स्वतंत्रता का प्रतीक सोचना,
  • 4:16 - 4:20
    लेकिन फिर मशाल से बंध जाना,
  • 4:20 - 4:22
    यह सोच के की वह आवाज नहीं कर सकते|
  • 4:24 - 4:28
    यह भी उस मशाल की आग है, और नीला
  • 4:28 - 4:31
    आग सबसे तेज आग होता है|
  • 4:39 - 4:42
    समाज ने हमे बहुत अलग करने की कोशिश की
  • 4:42 - 4:45
    हमे हमारे शरीर से या हम कहाँ रहते है
  • 4:45 - 4:49
    या आर्थिक रूप, शिक्षा, सब रूप से|
  • 4:54 - 5:00
    पर हम सब साथ है, हाथ जोड़े, नए सोच के साथ
  • 5:08 - 5:13
    मुझे यह लागू करना था| यह एक प्रार्थना
  • 5:13 - 5:17
    या उम्मीद है कुछ भविष्य के लिए -
  • 5:17 - 5:21
    इतिहास के कुछ नाम आज मे लाने के लिए|
  • 5:21 - 5:23
    और फिर इस अवरोह को जारी रखना
  • 5:23 - 5:26
    और फिर इस जिम्मेदारी को आगे बढ़ाना
  • 5:26 - 5:28
    और फिर सामूहिक का सम्मान करना |
Title:
Abigail DeVille: "Light of Freedom" | Art21 "Extended Play"
Description:

more » « less
Video Language:
English
Team:
Art21
Proiect:
"Extended Play" series
Duration:
05:50

Hindi subtitles

Versiuni