Return to Video

गुरुत्विय लेंसीग सिद्धांत की सहायता से तारों का भार ज्ञात करना।

  • 0:00 - 0:02
    अन्तरिक्ष की कूछ रोचक खबरें।
  • 0:02 - 0:04
    खगोलविदों ने हब्बल टेलीस्कोप
  • 0:04 - 0:07
    और एक खास तकनीकी प्रदाता
  • 0:07 - 0:09
    अलब्रट आइंस्टीन द्वारा भार ज्ञात करना
  • 0:09 - 0:10
    व्हाईट ड्वार्फ तारे का ।
  • 0:10 - 0:13
    1916 में आइंस्टीन ने कहा की
  • 0:13 - 0:15
    तारे के समान भारी-भरकम वस्तु
  • 0:15 - 0:17
    बास्तव में काल-अंतराल का ताना-बाना पर असर करती है
  • 0:17 - 0:20
    यानी की रौशनी की किरन
  • 0:20 - 0:22
    जब तारे के समीप से गुजरते हुए वास्तव में
  • 0:22 - 0:24
    मुड जाती है और सीघा नहीं जा पाती है
  • 0:24 - 0:25
    जैसे आ रही थीं।
  • 0:25 - 0:29
    सन् 1936 में एक चेक इंजीनियर में मेडल
  • 0:29 - 0:31
    आइंस्टीन के दरबाजे पर खटखटाया और
  • 0:31 - 0:32
    उन्हें थोड़ा और गणना के लिए आग्रह किया।
  • 0:32 - 0:34
    मेडल ने पूछा यदि एक तारा दुसरे
  • 0:34 - 0:36
    तारे के सामने से गुजरे तो, आइंस्टीन
  • 0:36 - 0:38
    इसके लिए तैयार नहीं थे । व्यस्त होते हुए भी
  • 0:38 - 0:40
    उन्होंने लज्जा बोघ से
  • 0:40 - 0:42
    फिर से साइंस के लिए गणना की,
  • 0:42 - 0:45
    छोटे कागज पर लिखा , यदि एक तारा गुजरता है
  • 0:45 - 0:47
    दुसरे तारे के सामने से, तो दुर बाला तारा
  • 0:47 - 0:50
    बड़ा और विकृत हो जायेगा
  • 0:50 - 0:52
  • 0:52 - 0:55
  • 0:55 - 0:56
  • 0:56 - 0:58
  • 0:58 - 1:01
  • 1:01 - 1:03
  • 1:03 - 1:06
  • 1:06 - 1:09
  • 1:09 - 1:12
  • 1:12 - 1:14
  • 1:14 - 1:16
  • 1:16 - 1:19
  • 1:19 - 1:21
  • 1:21 - 1:23
  • 1:23 - 1:25
  • 1:25 - 1:27
  • 1:27 - 1:29
  • 1:29 - 1:31
  • 1:31 - 1:33
  • 1:33 - 1:36
  • 1:37 - 1:39
  • 1:39 - 1:43
  • 1:43 - 1:43
Tytuł:
गुरुत्विय लेंसीग सिद्धांत की सहायता से तारों का भार ज्ञात करना।
Opis:

खगोलविदों ने आइंस्टाइन के गुरुत्विय लेंसीग के अभुतपूर्व उपयोग कर सुदूर तारे का भार ज्ञात कर लिया है।
इस सिद्धांत के आधार से तारे का भार ज्ञात करने के वारे में देखते और सीखते हैं।

more » « less
Video Language:
English
Team:
Scientific American
Projekt:
Misc. Videos
Duration:
01:55

Hindi subtitles

Revisions Compare revisions