Return to Video

कैसे एक डॉक्टर मरीजों के साथ वैक्सीन के संकोच पर चर्चा करती हैं

  • 0:01 - 0:02
    स्वागत है
  • 0:02 - 0:07
    COVID का वैक्सीन लगाने का फायदा आधे से
    ज़्यादा कैनेडियंस को नहीं समझाना पड़ेगा
  • 0:07 - 0:08
    एक बार वह आ जाये
  • 0:08 - 0:11
    लेकिन, जैसा आपने सुना होगा,
    बहुत लोगों के पास कुछ प्रश्न हैं
  • 0:11 - 0:13
    तोह हमे कुछ जवाब देने के लिये,
  • 0:13 - 0:16
    डॉक कोरा कॉन्स्टेंटिनस्कु,
    एक संक्रामक रोग विशेषज्ञ,
  • 0:16 - 0:19
    जो अल्बर्टा चिल्ड्रेन्स अस्पताल, कैलगरी के
  • 0:19 - 0:21
    संकोच क्लिनिक में काम करती हैं
  • 0:22 - 0:25
    डॉक्टर मुझे आपके इस जगह के बारे में
    कोई ज्ञान भि नही था
  • 0:26 - 0:28
    आपका उल्लेख कैसे लोगों को किया जाता है ?
  • 0:28 - 0:31
    हम एक सुर्यवस्थित प्रक्रिया में
    आ चुके हैं
  • 0:31 - 0:34
    और चिकित्सक समुदाय तक पहुचकर
  • 0:34 - 0:36
    उन्हें बताया है कि हम यहा मौजूद हैं
  • 0:36 - 0:39
    उन्कि मदद करने के लिए ताकी
    वह हमारी तरफ मजदूरों को भेजते रहे
  • 0:39 - 0:44
    क्या आपका काम लोगों को वैक्सीन
    लगवाने के लिए मनाने का है ?
  • 0:46 - 0:49
    मै यह देखती हू कि मेरा काम
    लोगों कि मदद करने का है
  • 0:49 - 0:52
    जब वोह वैक्सीन लगवाने का
    फैसला कर रहे हों
  • 0:53 - 0:57
    यह बात-चीत कैसी होती है?
    आप शुरू कहा से करती हैं ?
  • 1:00 - 1:03
    मै हमेशा खुद को ध्यान दिलाती हूँ
  • 1:03 - 1:06
    कि हर वैक्सीन संदेश नियुक्ति के दिल मे
  • 1:06 - 1:08
    हर माता-पिता यह कोशिश कर रहा है कि
  • 1:08 - 1:12
    वह अपने और अपने परिवार के लिये सबसे
    सही फैसला ले
  • 1:12 - 1:14
    और इस्मे बहुत साहस लगती है
  • 1:14 - 1:18
    क्यों की वह बहुत सारे झूटी खबरों के डर
    के साथ मुकाबला कर रहे होते है
  • 1:18 - 1:20
    जिनकी वजह से वैक्सीन पर भरोसे कि कमी है
  • 1:20 - 1:25
    तोह हम हर परिवार के साथ बहुत समय बिताकर
    भरोसा और संबंध बनाते हैं,
  • 1:25 - 1:30
    उनको समझते हैं ताकी ताकी हम वैक्सीन
    लगवाने के वार्तालाप को
  • 1:30 - 1:34
    वैयक्तिकृत कर सके ताकी हम उन तक वैक्सीन
    का सन्देश भेज पाये
  • 1:34 - 1:37
    फिर हम सार्वजनिक स्वास्थ्य के साथ
    काम करते हैं
  • 1:37 - 1:40
    जहां वह वैक्सीन लगाते हैं
  • 1:40 - 1:44
    यह बहुत विचित्र की बात है कि आप ने कहा कि
    लोगों में वैक्सीन पर ज़्यादा भरोसा नहीं है
  • 1:45 - 1:49
    आप प्रांतीय सरकार, एक स्थनीय सरकार
  • 1:49 - 1:52
    या फिर संघीय सरकार को लोगों में
    वैक्सीन पर भरोसा लाने के लिए
  • 1:52 - 1:55
    कैसे सलाह देंगी?
  • 1:57 - 2:00
    मै सोचती हूँ कि जब हम
    भरोसे के बारे में सोचते हैं,
  • 2:00 - 2:04
    हमे व्यक्तिगत स्तर और जनसंख्या स्तर
    में सोचना होता है
  • 2:04 - 2:06
    और व्यक्तिगत स्तर मे
  • 2:06 - 2:11
    यह इस विचार मे वापस जाते है कि
    इसे परिप्रेक्ष्य मे रखा जाये
  • 2:11 - 2:16
    और वैक्सीन के फायदों को समझे
  • 2:16 - 2:19
    और बिमारी का हम सब पर खतरा समझे
  • 2:20 - 2:22
    तोह, जैसे जब यह बात COVID पर आती है,
  • 2:22 - 2:26
    मै सबको प्रोत्साहित करती हूँ कि वह
    इस सार्वभौमिक महामारी के बारे मे सोचे ,
  • 2:27 - 2:29
    उन्होंने COVID के लिए क्या किया,
  • 2:29 - 2:31
    और यह वाइरस उन्से क्या ले गया
  • 2:31 - 2:33
    कुछ लोगों ने अपने
    प्रियजनों को खोया है,
  • 2:33 - 2:38
    सामाजिक संपर्क खोया है, बच्चों को
    विद्यालय छोड़ने का योग्यता खोया है,
  • 2:38 - 2:41
    हम सब पर लागत है
  • 2:41 - 2:44
    और इस वजह से हम सबके लिए
    कोई फायदा है
  • 2:44 - 2:49
    फिर हम सबको बस जाकर
    वैक्सीन लेना है
  • 2:49 - 2:52
    ताकी हम दिखा सके कि हम सब
    इसमे साथ हैं
  • 2:52 - 2:55
    फिर जब हम जनसंख्या स्तर मे
    पहुचते हैं,
  • 2:55 - 2:58
    भरोसा बनाना बहुत महत्वपूर्ण है
  • 2:58 - 3:01
    और यह एक मुश्किल काम है
  • 3:01 - 3:04
    क्युकी आपको मानव व्यवहार की जटिलताएँ
    को ध्यान मे रखना होगा
  • 3:04 - 3:07
    ख़ास तौर पर COVID-19,
  • 3:07 - 3:10
    और यह काम हमारे स्वास्थ्य देखभाल संस्थान
    अकेले नही कर सकते
  • 3:10 - 3:13
    मै नही चाहता कि यह एक कठोर
    सवाल कि तरह आये,
  • 3:13 - 3:16
    पर, आपको कैसे पता कि जो आप करते हों,
    वह काम करता है?
  • 3:16 - 3:19
    क्योंकि आप तोह वैक्सीन्स नही लगा रही हैं
    न लोगों पर ?
  • 3:19 - 3:23
    क्या आप अपनी सफलता की दर
    को ट्रैक करते हैं?
  • 3:23 - 3:24
    इसके आधार पर हम इसे कैसे देखते हैं
  • 3:24 - 3:28
    यह ५० से ६५ % मे कही भी हो सकता है कि
  • 3:28 - 3:30
    मरीज़ वैक्सीन लगवा ले
  • 3:30 - 3:32
    एक बार हमारे क्लिनिक से हो आए
  • 3:32 - 3:36
    और इस वैक्सीन संदेश दुनिया में यह
    एक बहुत बड़ी सफलता है
  • 3:36 - 3:38
    यह वार्तालाप बहुत ही दिलचस्प थी
  • 3:38 - 3:40
    डॉक कॉन्स्टेंटिनस्कु, आपके समय के लिए
    बहुत धन्यवाद
  • 3:40 - 3:43
    यहाँ आना बहुत ख़ुशी की बात थी,
    मुझे पाने के लिए बहुत धन्यवाद
Title:
कैसे एक डॉक्टर मरीजों के साथ वैक्सीन के संकोच पर चर्चा करती हैं
Description:

डॉक्टर कोरा कॉन्स्टेंटिनस्कु, एक संक्रामक रोग विशेषज्ञ, वैक्सीन सन्देश क्लिनिक, कैलगरी से चर्चा करती हैं कि वह कैसे वैक्सीन सन्देश वार्तालापों में कैसी बातें करती हैं, उसका वार्तालाप में क्या असर होता है और COVID-19 वैक्सीन के आसपास मैसेजिंग में क्या आवश्यक है|

द नेशनल लाइव देखिये यूट्यूब पर सोमवार से शुक्रवार रात ९ बजे ET

द नेशनल को सब्सक्राइब करिये:
https://www.youtube.com/user/CBCTheNational?sub_confirmation=1

द नेशनल के साथ जुड़िये ऑनलाइन:
फेसबुक | https://www.facebook.com/thenational
ट्विटर | https://twitter.com/CBCTheNational
इंस्टाग्राम | https://www.instagram.com/cbcthenational

द नेशनल सी.बी.सी का रात का समाचार कार्यक्रम है जिसमे आज की सबसे बड़ी खबरे गहराई और मूल पत्रकारिता के साथ बताई जाती हैं| इसके मेज़बान एड्रिएने आर्सेनॉल्ट और एंड्रू चैंग टोरोंटो से, इअं हनुमनसिंग वैंकूवर से और सी.बी.सी. के प्रमुख राजनीतिक संवाददाता, रोजमेरी बार्टन ओटावा से हैं|

more » « less
Video Language:
English
Team:
Amplifying Voices of Change
Project:
COVID-19 Pandemic
Duration:
03:44

Hindi subtitles

Revisions Compare revisions