Hindi subtítols

← नस्लवाद चुप्पी पर पनपता है— आवाज़ उठाओ!

Obtén el codi d'incrustació
25 llengües

Showing Revision 32 created 11/19/2020 by Arvind Patil.

  1. मैं एक मानवाधिकार वकील हूं।
  2. मैं तीस वर्षों से मानवाधिकार वकील हूं,
  3. और यही मैं जानता हूं।
  4. एक बार एक कमरे में एक आदमी अकेला था।

  5. और उसका नाम एल्टन था।
  6. और फिर सात अन्य लोग, सात अजनबी,
  7. उसके कमरे में पहुंचे और उसे बाहर खींच लिया
  8. और उन्होंने उसे पकड़ लिया
    एक क्षैतिज, क्रूस की स्थिति में।
  9. प्रत्येक हाथ पर एक,
  10. प्रत्येक पैर पर दो,
  11. और सातवें आदमी ने एल्टन की गर्दन,
    पकड़ रखी थी जोरसे
  12. उसके अग्रभाग के बीच ।

  13. और एल्टन सांस के लिए संघर्ष कर रहा था
  14. और कह रहा है, "मैं साँस नहीं ले सकता ,"
  15. जैसे जॉर्ज फ्लॉयड ने कहा कि,
    "मैं साँस नहीं ले सकता।"
  16. लेकिन वे नहीं रुके।
  17. और जल्द ही, एल्टन मर गया।
  18. जब मुझे, उसकी माँ, उसका भाई और उसकी
    बहन को प्रतिनिधित्व करने के लिए कहा गया

  19. उसकी मौत में पुछताछ में,
  20. उन्होंने मुझसे पूछा, "यह कैसे हो सकता है?"
  21. और मेरे पास कोई जवाब नहीं था।
  22. क्योंकि एल्टन को चोटें आई थीं
    उसके सारे शरीर पर।
  23. उसके गर्दन और धड़ पर चोट के निशान थे।
  24. उसके हाथ और पैर में चोटें आईं।
  25. उसकी आँखों ,कान और नाक में खून था।
  26. लेकिन उन्होंने दावा किया कि,
    किसी को कुछ नहीं पता था।

  27. उन्होंने दावा किया कि वे नहीं समझा सकते कि
    उसकी मृत्यु कैसे हुई।
  28. एल्टन के लिए दो समस्याएं थीं।
  29. सबसे पहले,
    जिस गलियारे में उसकी मृत्यु हुई थी
  30. वो जेल का गलियारा था।
  31. और दूसरी बात, वह ब्लैक था।
  32. इसलिए मैं आज आपसे बात करना चाहता हूं

  33. एल्टन की माँ के सवाल के बारे में।
  34. ऐसी चीज़ हमारे देश में कैसे हो सकती है ?
  35. ये चीजें कैसे हो सकती हैं
  36. दुनिया भर के देशों में ?
  37. वे आज भी कैसे हो सकती हैं,
  38. और हम इसे रोकने के लिए क्या कर सकते हैं ?
  39. पिछले तीन दशकों से,

  40. मैं रंग के लोगों के परिवारों का
    प्रतिनिधित्व कर रहा हूं
  41. जो यूनाइटेड किंगडम में राज्य की हिरासत
    में मारे गए हैं।
  42. और मैंने चार महाद्वीपों के पार मानवाधिकार
    का काम किया है।
  43. और जो मैंने सीखा है वह यह है:
  44. अगर हम नस्लवाद के बारे में कुछ
    करना चाहते हैं,
  45. तो हमें पहले यह समझना होगा कि यह क्या है।
  46. तो चलिए बात करते हैं, रेस के बारे में ।

  47. यह वास्तव में क्या है?
  48. हमारे जीवन का एक तथ्य?
  49. दुनिया का एक सबसे शक्तिशाली बल?
  50. कुछ जिसके बारे में हम विशेष रूप से
    बात नहीं करना चाहते ?
  51. वह यह सब बातें हैं,
  52. लेकिन यह कुछ और है।
  53. यह एक कल्पित कथा है।
  54. रेस जैसी कोई चीज नहीं है।
  55. वैज्ञानिक शोध से पता चलता है कि,
    रेस एक भ्रम है।
  56. उदाहरण के लिए,

  57. यूरोपीय वंश का कोई
  58. आनुवंशिक रूप से एक एशियाई व्यक्ति के,
    करीब हो सकता है
  59. किसी और यूरोपीय वंश की तुलना में।
  60. तो अगर रेस जैविक तथ्य नहीं है,
  61. तो वास्तव में यह क्या है?
  62. यह एक सामाजिक निर्माण है।
  63. जिसका मतलब है कि,
    इसका आविष्कार किया गया है।
  64. लेकिन किसके द्वारा और किस कारण से?
  65. प्रजाति के रूप में, हम 99.9 प्रतिशत साझा
    करते हैं, हर किसी के डी.एन.ए. के साथ।

  66. लेकिन दृश्यमान बाहरी विशेषताएं,
  67. जैसे बालों का प्रकार और त्वचा का रंग,
  68. क्रम में उपयोग किया गया है,इस नस्लवादी
    आनुवंशिक झूठ को बढ़ावा देने के लिए,
  69. नस्लीय आनुवंशिक अंतर के बारे में ।
  70. नस्लवाद सदियों से स्थानिक है।
  71. बेशक, नाज़ी बहुत उत्सुक थे
    नस्लवादी झूठ को बढ़ावा देने के लिए।
  72. लेकिन यूनाइटेड स्टेट्स में भी,
  73. यूजेनिक प्रयोग और यूजेनिक कानून थे ।
  74. और ऑस्ट्रेलिया में,
  75. दोहरी आदिवासी विरासत के बच्चों को उनके
    माता-पिता से जब्त कर लिया गया था,
  76. एक सफेद ऑस्ट्रेलिया बनाने के लिए।
  77. इस तरह की सोच फिर से उठ रही है,
    ऑल्ट- राइट ग्रुप्स में

  78. नस्लीय शुद्ध होमलैंड्स के पिछलग्गू।
  79. यह कैसे चलता है?
  80. आप देखें, हमारे पास रेस के कारण सामाजिक
    असमानताएँ नहीं है।
  81. हमारे यहां सामाजिक असमानताएं रेस के
    द्वारा उचित की गई है।
  82. मैं यह समझने लगा,
  83. जब मैं रंगभेद-विरोधी कार्यकर्ताओं का
    प्रतिनिधित्व कर रहा था
  84. और उन्होंने मुझे दिखाया कि कैसे रंगभेद
    सामाजिक शोषण और भेदभाव
  85. की एक प्रणाली थी
  86. जो रेस के द्वारा उचित किया गया है।
  87. गोरे लोगों की श्रेष्ठता
  88. और काले लोगों की हीनता से।
  89. रंगभेद शासन ने कहा कि यह प्रकृति थी
  90. और इसलिए यह अपरिहार्य था
  91. और इसके बारे में कुछ नहीं कर सकते हैं।
  92. माँ प्रकृति का झूठ भेदभाव और अन्याय
    को पास देती है।
  93. मैंने भी कुछ मामलों में देखा है,

  94. जहां लोग औपनिवेशीकरण और साम्राज्य
    के विरासत से पीड़ित हैं।
  95. मैंन अफ़्रीका में एक ही रंग के लोगों
    में समान प्रभाव देखा हैं।
  96. और कैसे कुछ विशेष जाति के लोगों को
    भारत में नीचा दिखाया जाता था।
  97. पीड़ित अलग हो सकते हैं,
  98. लेकिन तंत्र
  99. लेबलिंग और झूठ
  100. बिल्कुल समान है।
  101. और इसलिए आप देख सकते कीं क्यों लोग रेस
    को अपनाने के लिए इतने उत्सुक होते हैं।
  102. क्योंकि यह निजीकृत देता हैं,
  103. हमारे जैसे लोग,
  104. जेल से मुक्त कार्ड प्राप्त करें।
  105. सरल सच यह है की रेस एक प्रणाली हैं।

  106. यह ऑक्सिजन जैसा है, एक वातावरण की तरह।
  107. यह हमारे पूरे समाज में बहता हैं।
  108. यह हर किसीको छूता हैं।
  109. यह शक्ति और विशेषाधिकार की रक्षा करता हैं।
  110. किसका?
  111. अच्छा, अपने चारों ओर देखो।
  112. तो यह रंग के लोगों के लिए कैसा है,

  113. मेरे जैसे लोग,
  114. जो गोरे लोगों से बात करने की कोशिश करे
  115. नस्लवाद के बारे में?
  116. कई गोरे लोगों को ऐसा करना बेहद
    मुश्किल लगता है।
  117. कुछ गोरे लोग कहते हैं कि वे इसके बारे में
    कुछ नहीं जानते हैं।
  118. दूसरे कहते है कि हमारा समाज
  119. नस्लवाद से बिल्कुल भी पीड़ित नहीं हो सकता।
  120. यदि आप एक गोरे व्यक्ति हैं
    जो इस बारे में सोच रहे हैं,
  121. एक सोचा प्रयोग है जो आप कर सकते हैं।
  122. क्योंकि यहाँ सच्चाई है।
  123. आपको पता है।
  124. आपको पहले से ही पता है।
  125. तो अपने आप से यह पूछे:
  126. क्या आप वास्तव में यह चाहते है की
    आपकी बेटी या आपका बेटा,
  127. आपका भाई या आपकी बहन,
  128. मध्य पूर्व के एक मुस्लिम से शादी करें?
  129. या कोई हाल ही में दक्षिण एशिया से आया है,
    जो एक हिंदू से?
  130. या उप-सहारन अफ़्रीका से
    एक शरण चाहने वाले से?
  131. या कोई उस से जो हाल ही में यूएस-मेक्सिकन
    सीमा पार कर गया है?
  132. आपको कुल आपत्ति नहीं हो सकती है,
  133. लेकिन आपको चिंता हो सकती है।
  134. एक ओकाई जो आपके मस्तिष्क के पीछे
    खरोंच करती है।
  135. यह उनके शरीर के रंग के वजह से नहीं है।
  136. लेकिन, क्योंकि आप जानते हैं कि हमारे जैसे
    देशों में,
  137. जैसे चीज़ें अब खड़ी है,
  138. उनके जीवन की सम्भावनाओं का इन संघो से
    होने की संभावना है ।
  139. और आपको पता है कि आप जानते हैं,
  140. आप जानते हैं कि लोग उनको जज करेंगे।
  141. और सौ तरीको से,
  142. वे जज़्मेंट्स उनके जीवन को प्रभावित करेंगे
  143. और उनके बच्चों के जीवन को भी।
  144. उस पल,
  145. आप एक शक्तिशाली सत्य के साथ जुड़ रहे हैं।
  146. यह है कि आप जानते हैं कि प्रणालीगत नस्लवाद
    वास्तविक है।
  147. तो आप रेस के बारे में क्यों बात नहीं करना
    चाहते?

  148. क्योंकि यह असहज विषय है, निश्चित रूप से।
  149. लेकिन यह उत्तर का केवल एक हिस्सा है।
  150. बड़ा सच कई ज़्यादा हानिकारक है।
  151. आपकी ब्रिस्लिंग सिर्फ़
    रक्षात्मकता नहीं है।
  152. यह एक रक्षा तंत्र है।
  153. यह विशेषाधिकार की प्रणाली का बचाव करता है,
  154. और असमान विभाजन और धन का भी।
  155. नाजुकता असमानता को एक दर्रा देती है।
  156. जीतने और हारने वाले कौन हैं?

  157. अच्छी तरह से डेटा को देखो।
  158. आय में।
  159. स्वास्थ्य असमानताओ में।
  160. स्कूल बहिष्करण में।
  161. कैरियर की संभावनाओं में।
  162. रोक और खोज में।
  163. देखिए कैसे रंग के लोगों
  164. कि COVID से मरने की संभावना है।
  165. इसलिए यदि नस्लिय मिथक अदृश्य हो जाए

  166. और नाज़ुक प्रतिक्रिया मौन हो जाए,
  167. आपके पास क्या विकल्प बचा हैं?
  168. एक नस्लवादी और एक ग़ैर-नस्लवादी
    होने के बीच द्वीयधारी विकल्प।
  169. या कोई और तरीक़ा है?
  170. क्योंकि लगभग सभी लोग इस TED Talk
  171. में कहेंगे कि वे ग़ैर-नस्लवादी हैं।
  172. लेकिन हमें इसका सामना करना होगा,
  173. ग़ैर-कुछ होना पर्याप्त नहीं है।
  174. तीसरा विकल्प सक्रिय रूप से
    ग़ैर-नस्लवाद बनना है।
  175. इसलिए यदिआप सहमत हैं कि कालों का जीवन
    मायने रखता है,
  176. अपने आप से पूछो,
  177. “ मेरे जीवन में कालों का जीवन कैसे
    मायने रखता है?”
  178. “मैंने ये दिखाने के लिए क्या किया है

  179. की मेरे लिए कालों का जीवन
    क्या मायने रखता है?”
  180. एक दृश्यमान, जागरूक, सक्रिय विरोधी
    नस्लवादी रूख अपनाकर,
  181. जो एक बार अदृश्य हो गया था,
    वह दृश्यमान बना है।
  182. जो एक बार ख़ामोश था,
  183. ज़ोर से और स्पष्ट चिल्लाया जा रहा है।
  184. लेकिन यह अभी भी पर्याप्त नहीं है।
  185. सप्ताह के अंत में कड़वे संघर्ष के बाद,

  186. ऑल-वाइट जुरी एल्टन के केस में
    कोर्टरूम में लौट आइ।
  187. वहाँ पूर्ण मौन का क्षण था
  188. जब अग्रदूत खड़ा हुआ
  189. और उसने फ़ैसले की घोषणा की।
  190. और यह ग़ैरक़ानूनी हत्या थी।
  191. और उस पल,
  192. सभी कोर्टरूम में नरक ढीले पड़ गए।
  193. और वहाँ गगनबेदी शोर था।
  194. लोग चिल्ला रहे थे,
  195. एल्टन की बहन मेरे बाई और के
    गलियारे में खड़ी हो गई
  196. और वह जेल अधिकारियों की और इशारा कर रही थी
  197. और उन पर चिल्ला रही थी,
  198. “ तुमने मेरे भाई को मार डाला!
  199. तुमने मेरे भाई को मार डाला!”
  200. और परिवार पूरी तरह से चाहता था की
  201. जेल अधिकारी जो एल्टन कि मौत
    के लिए ज़िम्मेदार थे
  202. उन पर मुक़दमा चलाया जाए।
  203. हम सब यह चाहते थे।
  204. पर उन में से एक पर भी
    मुक़दमा नहीं चलाया गया।
  205. इसलिए हम मुख्य अभियोजक को अदालत में ले गए,

  206. सार्वजनिक अभियोजन के निदेशक।
  207. और भूमि के सर्वोच्च न्यायाधीश,
  208. लॉर्ड प्रधान न्यायाधीश,
  209. इस बात पर सहमत हुए कि मुक़दमा
    नहीं चलाने का फ़ैसला
  210. मोटे तौर पर त्रुटिपूर्ण और ग़ैरक़ानून था।
  211. एल्टन के मामले के दौरान हर दिन,

  212. उसका भाई अदालत के क़दमों में बैठता था
  213. और मुझे कहता था,
  214. “आज उन्हें प्रशिक्षित करे, श्रीमान D”
  215. लेकिन जब उसे पता चला कि किसी पर
    भी मुक़दमा नहीं चलाया जाएगा,
  216. उसके भाई के हत्या के लिए,
  217. वह बात उसे कुचल गयी।
  218. और वो कुछ दिन बाद मनोरंग हॉस्पिटल
    में मर गया।
  219. तो कैसे एल्टन की मृत्यु आपसे जुड़ती है,

  220. और हमारे समाजों में जातिवाद
    और विशेषाधिकार से भी?
  221. मुझे आपसे क्या चाहिए?
  222. में खुद से यह चाहता हूँ कि
    अपनी नौकरी से निकल जाऊँ।
  223. कई परिवार मेरे पास आते हैं जो दुःखी हैं
  224. और में उनके आँखों में आशा देखता हूँ।
  225. और मुझे उन्हें बताना पढ़ता था
  226. की किसी पर भी मुक़दमा चलाने की सम्भावनाएँ
  227. जो अपने प्रियजनो के हत्या में शामिल थे,
  228. बहुत कम थीं।
  229. मैंने इन दुखी चेहरों को देखा है,
  230. अपने करियर के स्प्रिंगटाइम में।
  231. और में अभी भी देखता हूँ
  232. अब जब मैं ऑटम में आ रहा हूँ।
  233. और गरमियों का मौसम ख़ून से भरा था।
  234. और किसी तरह मुझे लगता है
    कि मेरे हाथ पर खून है,
  235. हालांकि मैं तर्कसंगत रूप से
    जानता हूं कि ऐसा नहीं है
  236. लेकिन मैं उन्हें वापस नहीं ला सका
  237. एल्टन , गरेठ और ज़ाहिद
  238. या किसी को भी,
  239. जो उनके सभी दुखी
    परिवार कभी चाहते थे।
  240. इसलिए मैं आपको यह झूठ देखने
    के लिए कह रहा हूँ।

  241. और उन सभी झूठों में से सबसे निराधार
    झूठ को देखने के लिए।
  242. जो हम करते हैं वह नहीं होगा और
    उससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ेगा।
  243. मुझे यक़ीन है कि उन्होंने यह रोसा पार्क्स
    को कहा होगा
  244. मार्टिन लूथर किंग को,
  245. और नेल्सन मंडेला को भी।
  246. और वे आगे बढ़े और वह कैसे भी किया।
  247. मैंने उनके बारे में सोचने की कोशिश की
  248. क्योंकि मैं जेल अधिकारियों से
    जिरह कर रहा था।
  249. और मैं उन सब को कहता था,
  250. “एल्टन की माँ, श्रीमती.मैनिंग को देखो,
  251. और उन्हें बताओं की उनका बेटा क्यूँ मरा.”
  252. और उन्मे से एक भी उन्हें नहीं देख सका।
  253. वे चाहते थे कि वह अदृश्य हो।
  254. जब उन्हें पता चला कि उसके लड़के की मौत के
    लिए किसी पर भी मुक़दमा नहीं चलाया जाएगा,
  255. वह गहरे अवसाद में डूब गई
  256. और वह मर गई।
  257. पर मैं ये कभी नहीं भूलूँगा कैसे,
    अराजकता और हाथापाई में,
  258. जब फ़ैसला सुनाया गया था,
  259. मैं उनके पास गया और कहा,
  260. “श्रीमती मैनिंग, मुझे आपके परिवार
    के लिए बहुत खेद है।”
  261. और उन्होंने मेरी ओर देखा और कहा,
  262. “श्री.डायस, आप परिवार हो।”
  263. और उन्होंने जेल अधिकारियों और ज़ूरी की
    ओर इशारा किया और कहा,
  264. “और वे परिवार हैं।
  265. लेकिन परिवारों में लड़ाई और झगड़े होते है,
  266. पर हमें इसे सुलझाना पढ़ता है।
  267. और हमें एक रास्ता निकालना पढ़ता है।”
  268. तो हमें इसे कैसे और कब सुलझाना पढ़ता हैं?

  269. डॉक्टर किंग ने हमें समझाया कि
  270. सही काम करने के लिए समय
    हमेशा सही ही होता है।
  271. राज्य हिरासत में यह विवादास्पद मौतें,
  272. जेलों और पुलिस थानों में हो रही है।
  273. लेकिन आख़िरकार, उन पर स्पॉट्लायट चमक गई
  274. जॉर्ज फ्लॉयड की भयानक मौत की वजह से।
  275. अब हम यह कह नहीं सकते कि हमें नहीं पता था।
  276. कोविद संकट और जॉर्ज फ्लॉयड की मृत्यु
  277. ने हमें अपनी शालीनता से चौका दिया है।
  278. उन्होंने दुनिया को प्रवाह में डाल दिया,
  279. क्योंकि जो देखा गया है वह
    अनदेखा नहीं किया जा सकता।
  280. तो अभ एक ऐतिहासिक क्षण का
    परिवर्तन है ।
  281. अब कार्रवाई करने का समय है

  282. हमारे प्रभाव के क्षेत्रों में,
  283. और हमारे पास वो सब है।
  284. हमारे पास मतदान शक्ति है,
  285. हमारे पास पॉकेट पावर है,
  286. जहाँ हम अपना पैसा ख़र्च करते हैं
    और हम किस पर क्या ख़र्च करते हैं।
  287. हमारे पास नस्लवाद का सामना करने करने कि
    शक्ति है, जहाँ भी और जब भी हम इसे देखे।
  288. आप में से जो आज सुन रहे हैं,
  289. जो उस विशेषाधिकार से लाभान्वित हुए हैं,
  290. उनके पास यह मौक़ा है कि
    वे इसे अपने सिर पर रख सकें
  291. और समाज को बदलने की माँग रख सके
  292. अंततः जो होता है वह हमारे हाथो में है।
  293. और यही है वो जो मुझे पता है।

  294. जब राज्य की हिरासत में कोई कहता है,
    “मैं साँस नहीं ले सकता,”
  295. वे नश्वर ख़तरे में हैं।
  296. लेकिन जब समाज नस्लवाद के
    ऑक्सिजन को चुनौती नहीं देता है
  297. जो हर कोई रोज़ साँस लेता है,
  298. उस समाज में नस्लीय न्याय और समानता की आशा
  299. भी नश्वर ख़तरे में है।
  300. वहाँ कोई और अधिक एल्टन ,
  301. गरेठ, जाहिद
  302. ओलसेनि, जिमी, सीन
  303. शेरी, बरेओंना
  304. क्रिस्टफ़र और जॉर्ज नहीं होंगे।
  305. लेकिन यह सिर्फ़ मौतों के बारे में नहीं है,
  306. पर ज़िंदगी के बारे में हैं।
  307. और एक साथ हमारे मानव उत्कर्ष के बारे में।
  308. और उसके लिए हम सभी की ज़रूरत है।
  309. नस्लवाद अदृश्य रहना चाहता है.

  310. उसे उजागर करे।
  311. नस्लवाद आपकी चुप्पी चाहता है।
  312. आवाज़ उठाइए।
  313. नस्लवाद आपकी उदासीनता चाहता है।
  314. अपनी आवाज़ का उपयोग करने के लिए
    अभी एक प्रतिबद्धता बनाए
  315. और आपका विशेषाधिकार और शक्ति
  316. हमेशा नस्लीय न्याय के लिए लड़ने के लिए,
  317. और परिवर्तन बुलाने के लिए, आवाज़ों के
    अर्धचंद्र में शामिल होने के लिए।
  318. और उम्मीद का हिस्सा बनने के लिए।
  319. क्या आप हम में शामिल होगे?